Ranjish Hi Sahi Web Series Review In Hindi : जानिए आखिर कैसी है महेश भट्ट की ये वेब सीरीज

 

Ranjish Hi Sahi Web Series Review In Hindi : मशहूर फिल्ममेकर महेश भट्ट अब ओटीटी पे अपना पहला कदम जमा चुके है जिसकी शुरुआत उन्होंने 'रंजिश ही सही' नामक वेबसीरीज से की है जो की जानेमाने ओटीटी प्लेटफॉर्म Voot Select पर आ चुकी है, इस वेबसीरीज के क्रियेटर महेश भट्ट है जबकि सीरीज का लेखन और निर्देशन कार्य पुष्पदीप भरद्वाज ने किया है , इसके अलावा सीरीज का निर्माण जियो स्टूडियो और मुकेश भट्ट की कंपनी ने साथ मिलकर किया है | बता दे की रंजिश ही सही एक Romantic Drama Web Series है, जिसमे ताहिर राज भासिन, अमाला पाल और, अमृता पुरी मुख्य किरदारों मे है |


क्या है रंजिश ही सही वेबसीरीज की कहानी ? ( Ranjish Hi Sahi Web Series Story In Hindi )


रंजिश ही सही की कहानी को हिंदी फिल्म के इंडस्ट्री के गोल्डन पीरियड यानी की 70 के दसक मे सेट किया गया है जो हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के उभरते हुए फिल्ममेकर शंकर की जिंदगी पर आधारित है शंकर एक बच्ची का बाप है जिसका बॉलीवुड की सुपरस्टार आमना से एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर हो जाता है जिसके बाद उसकी शादीशुदा जिंदगी पूरी तरह से बर्बाद हो जाती है और शंकर अपनी पत्नी अंजू और प्रेमिका आमना के बीच खुदको बहुत बुरी तरह से फसा हुआ पाता है | शंकर की लाइफ मे असली मुसीबत तब आती है जब उसकी वाइफ अंजू को अफेयर के बारे मे पता चलता है तो शंकर की पर्सनल लाइफ तो बर्बाद है ही लेकिन उसे सबसे बड़ा झटका तब लगता है जब उसकी चार फिल्में बुरी तरह से फ्लॉप हो जाती है जिसके बाद वो नई कहानी की तलाश करता है | अब शंकर की नई कहानी क्या है और शंकर कैसे इन सभी मुसीबतो से निपटता है सभी सवालो के जवाब आपको सीरीज मे मिलेंगे |


Ranjish Hi Sahi Web Series


कैसी है 'रंजिश ही सही' ( Ranjish Hi Sahi Web Series Review In Hindi ) 

'रंजिश ही सही' एक कमाल की लव स्टोरी जिसमे ताहिर राज भासिन ने फिल्ममेकर शंकर के किरदार मे एक लाजवाब प्रदर्शन पेश किया है इसके अलावा साउथ एक्ट्रेस अमाला पाल का बॉलीवुड डेव्यू भी शानदार है सीरीज मे अमाला पाल शंकर की प्रेमिका आमना के रूप मे बहुत ही खूबसूरत लगती है,  अमृता पुरी ने भी अंजू के किरदार मे जान फूकने का काम बखूबी किया है | सीरीज का साउंड ट्रैक बहुत ही शानदार है जो 70 के दशक के गानो की हल्की हल्की याद दिलाने की कोशिश करता है पुष्पदीप भरद्वाज के निर्देशन मे थोड़ी बहुत कमिया दिखती है लेकिन सिनेमेटोग्राफी लेवल इन कमियो को महसूस नही होने देगा एक बेहतर लव स्टोरी जो आपको अंतिम तक स्क्रीन से चिपका कर रखेगी अगर आपको रोमांटिक फिल्में देखना पसंद है तो आप इसे एक चांस दे सकते हो कोई नुकसान नही होगा | 

Tags

Top Post Ad

Below Post Ad